February 26, 2024
Current Affairs Questions in Hindi 2023 | World Current Affairs
Jobs / GK

Social Science General knowledge in Hindi : GK Questions with answer

Social Science General knowledge Questions 2022: यहां पर आपको हर रोज आपको लेटेस्ट जनरल नॉलेज का ज्ञान मिलेगा जिसको आप डेट वाइज डेली पढ़ सकेंगे। यहां पर आपको दुनिया भर की लेटेस्ट जीके क्वेश्चन आंसर, और खेलकूद से जुड़ी सभी प्रकार की जनरल नॉलेज करंट अफेयर्स जीके जनरल अवेयरनेस जैसे सभी प्रश्न उत्तर जैसे आपको जानकारी मिलेंगे।

Social Science General knowledge Questions in Hindi

” Social Science General knowledge , English general knowledge, Social science general knowledge 6 November in Hindi, Science general knowledge in Hindi, Geography general knowledge in Hindi, History general knowledge 6 November in Hindi, Sanskrit general knowledge 6 November in Hindi, GK questions in Hindi, Today gk questions in Hindi, Daily Gk in Hindi, Current affairs in Hindi, Social Science General knowledge “

Join our TelegramJoin now
Join our WhatsApp Group Join now
general knowledge 13 October
Social Science General knowledge questions 2022 in Hindi

Social Science General knowledge हिंदी सामान्य ज्ञान: यहां पर हम आपको अपनी पूरी टीम के साथ कोशिश करते हैं। कि आपको दुनिया भर की सबसे बेहतरीन जनरल नॉलेज की जानकारी दी जाए और हमारी टीम की यही कोशिश रहती है। कि जो पिछले वर्षों के परीक्षाओं में पूछे गए प्रश्न होते हैं। Social Science General knowledge उनको अधिक से अधिक कवर किया जाए ताकि आप अपनी परीक्षा में जनरल नॉलेज कि जो तैयारी हो वह बहुत ही बेहतर हो सके इसलिए हम आपको यहां पर Social Science General knowledge यह सभी जनरल नॉलेज आपके सामने प्रस्तुत कर रहे हैं।

Social Science General knowledge in Hindi

प्रश्न 1:- भारत में कुल कितने गांव हैं?

  1. 597464
  2. 640930
  3. 577698
  4. इसमें से कोई नहीं

उत्तर:- भारत एक ग्राम प्रधान देश है 2011 की जनगणना के अनुसार भारत में कुल 640930 गांव है। वहीं विश्व बैंक की वर्ल्ड ऑर्गेनाइजेशन रिवीजन रिपोर्ट2018 अनुसार विश्व स्तर पर भारत की ग्रामीण संख्या 6.6% है। भारत के गांव भौतिक संरचना एवं जनसंख्या के आधार पर एक दूसरे से विभिन्न पाए जाते हैं भारत की लगभग 70% आबादी गांवों में रहती है।

प्रश्न 2:- ग्रामीण समुदाय उस समुदाय को कहा जाता है जहां?

  1. समाज में अनौपचारिकता पाई जाती है
  2. कृषि मुख्य व्यवसाय होता है
  3. प्राथमिक समूह की प्राथमिकता होती है
  4. उपरोक्त सभी

उत्तर:- ग्रामीण समुदाय उस समुदाय को कहा जाता है जहां समाज में अनौपचारिकता प्राथमिकता समूह की प्रधानता जनसंख्या का कम घनत्व तथा कृषि मुख्य व्यवसाय पाया जाता है ग्रामीण समुदाय को खेतिहर समुदाय भी कहा जाता है ग्रामीण समुदाय का कृषि भूमि से भावनात्मक लगाव होता है।

प्रश्न 3:- उप नागरिक ग्राम वह ग्राम होता है जहां

  1. ग्रामीण तथा नागरिक संस्कृति मिलती है
  2. बड़े उद्योग स्थापित होते हैं
  3. कृषि योग्य भूमि का अभाव होता है
  4. केवल शिल्पकार रहते हैं

उत्तर:- उप नागरिक ग्राम व ग्राम होता है जहां ग्रामीण तथा नगरीय संस्कृति मिलती है। उपनागरिय ग्राम की बाहरी सीमा नगरों से संलग्न होती हैं ऐसे ग्राम के बाहरी क्षेत्र को ग्रामों तथा नगरों का संक्रमण क्षेत्र कहा जाता है ग्रामीण तथा नागरिया संस्कृति विविधात देखने को मिलती है।

प्रश्न 4:- जनगणना 2011 के अनुसार ग्रामीण भारत की आबादी है?

  1. 83.3 करोड़
  2. 73.3 करोड़
  3. 37.3 करोड़
  4. इसमें से कोई नहीं

उत्तर:- जनगणना 2011 के अनुसार ग्रामीण भारत की आबादी 83.3 करोड़ है। जो देश की कुल जनसंख्या का68.89% है यह जनसंख्या देश के640930 गांवों में निवास करती है। गांव का आकार सामान्यतः छोटा होता है। भारत के 3.38 लाख गांव ऐसे हैं जहां की आबादी 1000 से भी कम पाई जाती है।

प्रश्न 5:- ग्राम शब्द का सर्वप्रथम उल्लेख किस साहित्य में मिलता है?

  1. बौद्ध साहित्य
  2. वैदिक साहित्य
  3. जैन साहित्य
  4. तमिल साहित्य

उत्तर:- ग्राम शब्द का सर्वप्रथम उल्लेख वैदिक साहित्य में मिलता है इस साहित्य में गांव की समृद्धि के लिए प्रार्थना की गई है ग्राम और क्षेत्र होता है जहां लोग मिलकर रहते हैं प्राकृतिक से निकटता से जुड़े रहते हैं उसी के अनुरूप आर्थिक गतिविधियां करते हैं जैसे कृषि पशुपालन मत्स्य पालन आदि।

Join our TelegramJoin now
Join our WhatsApp Group Join now

प्रश्न 6:- व्यवसायिक स्तर पर ग्रामीण क्षेत्रों में कौन सी क्रिया अधिक प्रचलित है?

  1. कृषि
  2. विनिर्माण
  3. सेवा क्षेत्र
  4. मत्स्यन

उत्तर:- व्यवसायिक स्तर पर ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि क्रिया अधिक प्रचलित है अतः गांव के निर्धारण का मुख्य आधार भी कृषि को माना जाता है गांव के बहुत कम लोग कृषि छोड़ दूसरे व्यवसाय में लगे होते हैं यह उसकी आजीविका का मुख्य साधन होता है ग्रामीण क्षेत्रों में पशुपालन मत्स्य पालन आदि प्रमुख आर्थिक क्रियाएं पाई जाती हैं।

प्रश्न 7 :- निम्नलिखित में से कौन एक ग्रामीण परिवेश की विशिष्टता को नहीं दर्शाता है?

  1. सरल एवं सामान्य जीवन
  2. सामाजिक गतिशीलता का अभाव
  3. एकल परिवार की परंपरा
  4. श्रम की विशेष श्रेणी करण का महत्व

उत्तर :- एकल परिवार की परंपरा ग्रामीण परिवेश की विशिष्टता को नहीं दर्शाती है क्योंकि गांव में संयुक्त परिवार की परंपरा पाई जाती है पाई जाती है ग्रामीण समुदाय की विशेषताओं में सरल एवं सादा जीवन सामाजिक जीवन में एकरूपता सामाजिक गतिशीलता का अभाव श्रम के विशेषीकरण का महत्व आदि शामिल पाया जाता है ग्रामीण शिक्षित एवं भाग्यवादिता वाले होते हैं।

प्रश्न 8:- ग्रामीण समुदाय के संदर्भ में कौन सा कथन असंगत है?

  1. ग्रामीण समुदाय प्राकृतिक पर्यावरण पर निर्भर करता है
  2. व्यक्ति की प्रतिष्ठा का संबंध परिवार होता है
  3. जनसंख्या घनत्व कम पाया जाता है
  4. विनिर्माण कार्य विकसित अवस्था में होती है

उत्तर :- दिए गए कथनों में (d) कथन असंगत है क्योंकि ग्रामीण समुदाय मुख्य रूप से कृषि पर निर्भर होता है अत: विनिर्माण कार्य विकसित अवस्था में नहीं होते हैं ग्रामीण समुदाय पूर्णत: प्राकृतिक पर निर्भर होता है ग्रामीण समुदाय का जनघनत्व भी कम पाया जाता है परिवार के एक सदस्य की प्रतिष्ठा का संबंध पूरे परिवार से संबंधित होता है इसमें प्राथमिक नियंत्रण की प्रधानता होती है।

प्रश्न :- वर्तमान ग्रामीण समुदाय में किसी व्यक्ति की स्थिति का आकलन किसी आधार पर नहीं किया जा सकता है

  1. जाति
  2. धन
  3. पद
  4. शिक्षा

उत्तर:- वर्तमान ग्रामीण समुदाय में किसी व्यक्ति की स्थिति का आकलन जाति के आधार पर नौकर के धन पद तथा शिक्षा आदि के आधार पर किया जाता है औद्योगिकीकरण नागरिकरण तथा सरकार के प्रयास से ऊंच- नीचे छुआ छूत निम्न जातियों से भेदभाव की भावनाओं में बदलाव आया है इतना ही नहीं जातियों के अर्थों में भी बदलाव आया है।

प्रश्न10:- ग्राम समुदाय का समाजशास्त्रीय महत्व किस रूप में प्रदर्शित होता है?

  1. प्राचीन संस्कृत क संवाहक के रूप में
  2. सामाजिक संगठन का प्रारंभिक रूप
  3. प्रजातंत्र का आदर्श रूप
  4. उपरोक्त सभी

उत्तर:- ग्राम समुदाय का समाजशास्त्रीय महत्त्व समाज की मौलिक इकाई प्राचीन संस्कृत के संवाहक रूप में समाजिक संगठन का प्रारंभिक रूप आर्थिक जीवन का आधार प्रजातंत्र का आदर्श एवं प्रारंभिक रूप आदि के रूपों में प्रदर्शित होता है अतः यह सामाजिक आर्थिक राजनीतिक तथा सांस्कृतिक परिवर्तन को प्रदर्शित करते हैं

Join our TelegramJoin now
Join our WhatsApp Group Join now

प्रश्न 11:- ग्रामीण विकास की दिशा में सामाजिक जीवन में क्या परिवर्तन हुआ है?

  1. जजमानी व्यवस्था की समाप्ति
  2. जातियों के परंपरागत संबंध कमजोर
  3. संयुक्त परिवार का विघटन
  4. उपरोक्त सभी

उत्तर:- वर्तमान ग्रामीण विकास की दिशा में सामाजिक जीवन में प्रमुख परिवर्तन हुआ है जैसे जजमानी व्यवस्था की समाप्ति विभिन्न जातियों के परंपरागत संबंधों में बदलाव जाती पंचायतों का प्रभाव समाप्त जाति से संबंधित नियम कमजोर संयुक्त परिवार का विघटन अंतरजातीय विवाह उल्लंघन आदि योग्यता कुशलता आर्थिक समानता आदि आदि स्तरों पर भी बदलाव आया है

प्रश्न 12:- महा जननी प्रथा स्वर प्रथम उल्लेख निम्नलिखित में से किस प्राचीन ग्रंथ में हुआ है

  1. शतपथब्राह्मण
  2. उपनिषद
  3. रामायण
  4. महाभारत

उत्तर:- महा जननी प्रथा का सर्वप्रथम उल्लेख शतपथ ब्राह्मण प्राचीन ग्रंथ में मिलता है इसके लेखन ऋषि याज्ञवल्क्य थे यह शुक्ला यजुर्वेद का ब्राह्मण ग्रंथ है वर्तमान में ग्रामीण आर्थिक जीवन में बदलाव आया है अब लोगों को रोजगार के अवसर मिल रहे हैं जिससे गांव के महाजनों पर निर्भर नहीं रहना पड़ रहा है जिससे महा जननी प्रथा समाप्ति की कगार पर है

प्रश्न 13:- ग्रामीण राजनीतिक जीवन में बदलाव के संदर्भ में यह कथन इनका है जिन ग्रामीण क्षेत्रों में निम्न जातियों के लोगों की संख्या अधिक है वे प्रमुख जातियों के रूप में संगठित हो गई हैं?

  1. मैकाइवर
  2. श्रीनिवास
  3. एच एम जॉनसन
  4. आरके मॉर्टन

उत्तर:- आधुनिक समय में ग्रामीणों के जीवन में राजनीतिक परिवर्तन हुआ है उनमें राजनीतिक चेतना आई है वे अब कमजोर समूह में नहीं बल्कि संगठित होकर दबाव समूह के रूप में चुने प्रतिनिधियों से अपनी मांगो का मनवाने में सक्षम हुए हैं। इसी को देखते हुए श्रीनिवास ने लिखा है कि जिन ग्रामीण क्षेत्रों में निम्न जातियों के लोगों की संख्या अधिक है व प्रमुख जातियों के रूप में संगठित हो गई हैं।

प्रश्न 14:- समाज के व्यवस्थित रूप को क्या कहा जाता है?

  1. सामाजिक प्रतिमान
  2. सामाजिक संरचना
  3. सामाजिक मूल्य
  4. सामाजिक संस्था

उत्तर:- समाज के व्यवस्थित रूप को सामाजिक संरचना का जाता है सामाजिक संरचना में सामाजिक प्रतिमानो समितियों संस्थाओं सामाजिक मूलो के व्यवस्थित स्वरूप शामिल होते हैं इसमें विभिन्न व्यक्ति समूह एक दूसरे के साथ संगठित रूप में रहते हैं।

प्रश्न 15:- सामाजिक परिवर्तन का कौन सा कारक लोगों के मकान की बनावट खानपान वस्त्र आदि को प्रभावित करता है?

  1. भौगोलिक कारक
  2. जैविक कारक
  3. जनांकिकीय कारक
  4. प्रौद्योगिकी कारक

उत्तर :- सामाजिक परिवर्तन का भौगोलिक कारक लोगों के मकान की बनावट खानपान वस्त्र शारीरिक क्षमता आदि को प्रभावित करता है मानव का विकास प्राकृतिक परिस्थितियों पर निर्भर है प्राकृतिक विपदाओं के कारण गांव जब बर्बाद हो जाता है तब मानव दूसरे स्थान पर जाकर बसता है और वहां कि प्रभाव रीति-रिवाजों मूल्य आदि को ग्रहण करता है इससे संस्कृति में परिवर्तन आ जाता है।

Join our TelegramJoin now
Join our WhatsApp Group Join now

प्रश्न 16:- सामाजिक परिवर्तन के आर्थिक कारक किस रूप में सहायक होते हैं?

  1. अंतरजातीय विवाह
  2. प्रेम विवाह
  3. सामाजिक विघटन
  4. यह सभी

उत्तर:- सामाजिक परिवर्तन के आर्थिक कारक प्रेम विवाह सामाजिक विघटन अंतरजातीय विवाह सामाजिक संरचना में बदलाव आदि के लिए सहायक होते हैं आर्थिक कारकों में उपभोग की प्रकृति के उत्पादन का स्वरूप वितरण की व्यवस्था आर्थिक नीतियां औद्योगिकीकरण आदि शामिल होते हैं यह आर्थिक कारक सामाजिक स्तरीकरण को भी प्रभावित करते हैं।

प्रश्न 17:- निम्न में से कौन सामाजिक परिवर्तन का कारक नहीं है?

  1. राजनीतिक कारक
  2. सूचना प्रौद्योगिकी
  3. सामाजिक गतिशीलता
  4. मनोवैज्ञानिक

उत्तर :- सामाजिक गतिशीलता सामाजिक परिवर्तन का कारक नहीं है बल्कि सामाजिक परिवर्तन की स्थिति है यह विभिन्न कारकों के प्रभाव से परिवर्तित होती है जिन नगरीय समाज में अधिक देखा जाता है सामाजिक परिवर्तन के कार को में आर्थिक कारक जैविक कारक मनोवैज्ञानिक कारक सूचना औद्योगिक की संस्कृति पहलू आदि प्रमुख हैं

प्रश्न 18:- निम्न में कौन सामाजिक परिवर्तन का प्रतिमान नहीं है?

  1. समरैखिक परिवर्तन
  2. समतल परिवर्तन
  3. उतार-चढ़ाव दार परिवर्तन
  4. चक्रीय परिवर्तन

उत्तर:- सामाजिक परिवर्तन के प्रति मानव में समरैखिक परिवर्तन उतार-चढ़ाव दार परिवर्तन चक्रीय परिवर्तन प्रमुख हैं अतः समतल परिवर्तन सामाजिक परिवर्तन का प्रतिमान नहीं है विज्ञान प्रयोग की के प्रभाव से पर वर्तमान के समय में होने वाले सामाजिक परिवर्तन को समरैखिक परिवर्तन प्रतिमान के अंतर्गत दर्शाया जाता है इस परिवर्तन में उपयोगितावादी दृष्टिकोण के लिए संचयी विकास होता है?ह

प्रश्न 19:- समाज में आर्थिक जगत तथा जनसंख्या के क्षेत्र में हो रहे परिवर्तन को किस के अंतर्गत देखा जाता है?

  1. समरैखिक परिवर्तन
  2. उतार-चढ़ावदार परिवर्तन
  3. चक्रीय परिवर्तन
  4. गुणात्मक परिवर्तन

उत्तर :- समाज के आर्थिक जगत तथा जनसंख्या के क्षेत्र में हो रहे परिवर्तन को उतार-चढ़ाव दार परिवर्तन प्रतिमान के अंतर्गत देखा जाता है इस परिवर्तन प्रतिमान के अंतर्गत समाज की अच्छी तथा खराब स्थिति को देखा जाता है इसमें अच्छी स्थिति ऊंचे भाग पर तथा खराब स्थिति को नीचे दिखाया जाता है?

प्रश्न 20:- मानव जीवन का शिशु तरुण तथा वृद्ध अवस्था में परिवर्तन कौन सा परिवर्तन है?

  1. समरैखिक
  2. उतार-चढ़ावदार
  3. चक्रीय
  4. समानुपाती

उत्तर:- मानव जीवन का शिशु तरुण तथा वृद्ध अवस्था में होने वाला परिवर्तन चकरी परिवर्तन है प्राकृतिक जगत मानवीय सभ्यता तथा फैशन परिवर्तन वृत्ताकार क्रम में होता रहता है यह मानव के विभिन्न क्षेत्रों में हो रहे परिवर्तनों को भी प्रभावित करता है ऐसे परिवर्तन को चक्र परिवर्तन प्रतिमान के अंतर्गत देखा जाता है?

IMPORTANT:- 👇👇👇👇

और हा मैं आपको यह भी जानकारी दे दु की यदि आप ऐसे सभी भर्ती,जॉब,एडमिट कार्ड, जैसी सभी सेवाओं का लाभ भविष्य में चाहते है, तो हमारे Telegram को अभी join कर लिजिए। धन्यवाद!

Join our TelegramJoin now
Join our WhatsApp Group Join now

आपके लिए जरूरी लिंक

Latest Government JobsGeneral Knowledge 18 October 2022 in Hindi
Government jobs SyllabusLatest Gk Question 2022 in Hindi

FAQs

Best Hindi gk website?

Best Hindi k website resulttak dot com pr visit here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *